Udyog Aadhar – MSME – MSME Registration 2020

[lwptoc smoothScroll=”1″]

 

Ministry of Micro, Small & Medium Enterprises (MSME- Udyog Aadhar)

अधिक जानकारी के लिए Daily चेक करते रहे
OnlineProsess.com

IMPORTANT DATES


Last Date –
Not Fix

APPLICATION TYPE

  • SERVICE
  • MANUFACTURING

 MSME SHORT DETAILS 

भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय के द्वारा एमएसएमई उद्योगों के लिए कुछ नियम बनाये गए है. देश में मौजूद जो भी सूक्ष्म, छोटे और मध्यम उद्योगों से सम्बंधित नियम, विनियम और कानून है तथा आवश्यकता होने पर नए कानूनों के निर्माण के लिए यह मंत्रालय सर्वोच्च निकाय या संस्था है. हर देश की आर्थिक मजबूती, उम्मीद और व्यवसाय युवा उद्यमी पर ज्यादा रहती है. भारत सरकार छोटे- बड़े व्यापारिक संगठनों को उनके व्यापार में कठिनाईयों का सामना ना करना पड़े, इस बात का ध्यान रखते हुए उन्हें एमएसएमई में आसानी से पंजीकरण करने की सुविधा प्रदान करती है.

  • माइक्रो या सूक्ष्म उद्योग : सूक्ष्म उद्योग सबसे छोटी संस्था है. इस विनिर्माण व्यापार के अंतर्गत संयंत्र और मशीनरी में कम से कम 1 करोड़ तक का निवेश कर सकते है जिसका टर्नओवर 5 करोड़ होना चाहिए.
  • लघु उद्योग : इसके अंतर्गत छोटे विनिर्माण उद्योग के लिए संयत्र और मशीनरी में 10 निवेश कर सकते है, जिसका टर्नओवर कम से कम 50 करोड़ होना चाहिए.
  • मध्यम उद्योग : मध्यम विनिर्माण उद्योग के लिए संयत्र और मशीनरी में 20 करोड़ का निवेश कर सकते है जिसका टर्नओवर कम से कम 100 करोड़ होना चाहिए.

एमएसएमई में उद्योग का पंजीकरण होने से मिलने वाले लाभ (Profit of MSME Registration Certificate)

  • बैंको से लाभ : सभी बैंक और अन्य वित्तीय संस्थान एमएसएमई को पहचानते है इसलिए आपको अपने व्यवसाय के लिए ऋण स्वीकृति कम ब्याज दर पर आसानी से उपलब्ध हो सकती है. एमएसएमई को दी गयी ऋण पर ब्याज की दर सामान्य व्यापार की ब्याज दर की तुलना में 1-1.5 प्रतिशत कम होते है.
  • राज्य सरकार द्वारा छूट : ज्यादातर राज्य उन लोगों को बिजली, कर और औद्योगिक सब्सिडी प्रदान करती है, जिन्होंने अपने व्यापार को एमएसएमईडी अधिनियम के अंतर्गत पंजीकृत किया है. उन्हें राज्य द्वारा विशेष रूप से बिक्री कर में छूट मिलती है.
  • कर लाभ : व्यवसाय के आधार पर एमएसएमई में पंजीकृत होने के बाद एक्साईज छूट योजना का लाभ ले सकते है, व्यवसाय के प्रारंभिक वर्ष में कुछ प्रत्यक्ष करों से भी छूट मिलती है, सरकार के द्वारा व्यवसाय को स्थापित करने में व्यापारियों को कई प्रकार की सब्सिडी भी प्रदान की जाती है, जिससे उन्हें लाभ की प्राप्ति होती है.
  • केंद्र और राज्य की सरकार से अनुमोदन : एमएसएमई में पंजीकृत व्यवसाय को सरकारी लाईसेंस और प्रमाणीकरण जल्द और आसानी से मिल जाते है. कई ऐसी सरकारी निविदाएं या टेंडर है जो कि भारत में लघु व्यवसाय की भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए अर्थात केवल एमएसएमई के लिए ही खुली है.

 

MSEM Registration के लिए जरुरी कागजात

 

  • आधार कार्ड (इसमें आपका मोबाइल नंबर लिंक होना चाहिए)
  • पैन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडीई
  • बैंक पासबुक

Most Uses Nic Code

  • Electronic Shop

Nic Code :-

  • Cloth Shop

Nic Code :-

 

  • Sweet & Food  Shop

Nic Code :-

  • Genreal Store

NIC Code

Genral Store Nic Code

  • Cyber Cafe

NIC Code

CYBER CAFE

Notes :- MSME Registration or Udyog Aadhar Registration में कोई अंतर नही है, आप उद्योग आधार में रजिस्ट्रेशन करे या MSME में दोनों में कोई अंतर नही है..

 

MSEM में रजिस्ट्रेशन करने में कोई दिक्कत हो तो विडियो देखे..

YouTube video

 

Important Links
OnlineProsess.com

 

MSME REGISTRATION

 

 

Click Here

 

MSEM CERTIFICATE PRINT

 

 Print Application

Print Certificate

 

UPDATE REGISTRATION

 

Click Here

 

 

VERIFY CERTIFICATE

 

Click Here

 

 

OFFICAL LINK

 

Click Here

 

Importance of MSME in India | Online Learning | Legal Raasta |

 

 

8 thoughts on “Udyog Aadhar – MSME – MSME Registration 2020”

Leave a Comment