Chake Payment : Bihar Badh Rahat 2020

 
pan card online apply

Bihar Badh Rahat 2020

Important Date

बिहार बाढ सहायता राशी 

  • Application Start Date: Comming Soon
  • Application Last Date: Comming Soon

6000 Rs.

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

Title of the document

बिहार में बाढ़ से बहुत सारे ऐसे जिले हैं जिसमें बहुत ही ज्यादा पानी भरा हुआ और उस में बहुत ही ज्यादा क्षति हुआ है चाहे वह दोस्त घर मकान हो या फिर फसल क्षति हो या फिर दोस्तों उनका सामान चाहती हुआ हो बहुत सारे ऐसा चीज है जो बहुत ही ज्यादा बाढ़ के द्वारा क्षतिग्रस्त हुआ है

ऐसे में बिहार सरकार ने बिहार बाढ़ क्षतिग्रस्त जिलों को कुछ सहायता राशि प्रदान करने के लिए यहां पर निर्देश जारी किया गया है आज मैं आपको बताने वाला हूं कि कौन-कौन से जिले हैं किस किस तरह का यहां पर आपको यहां पर लाभ मिलने वाला है कितना पैसा मिलने वाला सारा डिटेल में दोस्तों आपको इस पोस्ट में बताने वाला हूं

Bihar Badh Rahat 2020 आवेदन कैसे करे ?

बिहार बाढ़ राहत का आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले अपने मुखिया या फिर पंचायत या फिर वार्ड से मिलना होगा कि bihar badh rahat 6000 online apply 2020 कोई भी यहां पर नियम नहीं है ऑनलाइन करने का यहां पर कोई भी नियम नहीं है आपको मुखिया से या फिर वार्ड से या फिर दोस्तों अब के सरपंच इन्हीं लोगों से आपको मिलना है वहां पर लिस्ट बनवाना है लिस्ट बनवाने के बाद ही आपको इतना पैसा मिलने वाला है

Bihar Badh Rahat कौन कौन जिले शामिल है ?

बिहार बाढ़ राहत में लगभग 10 जिले शामिल है 10 जिले का नाम नीचे दिया गया आप उसे पढ़ सकते हैं

  1. सीतामढ़ी
  2. शिवहर
  3. सुपौल
  4. किशनगंज
  5. दरभंगा
  6. मुजफ्फरपुर
  7. गोपालगंज
  8. खगड़िया
  9. पूर्वी चंपारण
  10. पश्चिमी चंपारण

Bihar Badh Rahat किन-किन क्षेत्रों में कितना पैसा मिलेगा ?

  1. नुकसान होने पर इन मदों में मिलेगी सहायता
  2. 6000 नकदी हरेक परिवार को है
  3. 4800 कपड़ा मद में
  4. 2000 बर्तन के लिए
  5. 6800 प्रति हेक्टेयर फसल
  6. 30 हजार प्रति गाय, भैंस में
  7. 3 हजार प्रति बकरी, भेड़, सुअर
  8. 25 हजार प्रति घोड़ा पर
  9. 50 रुयये प्रति मुर्गा, अधिकतम 5
    हजार
  10. 95400 कच्चा-पक्का मकान
  11. 5200 पक्का मकान
  12. 3200 कच्चा मकान
  13. 400 झोपड़ी के लिए
  14. 2100 जानवर के शेड नुकसान
bihar badh rahat online form 2020

Important Links

Chake Payment Status Click Here
Download Notification Click Here
Offical Link Click Here
https://www.youtube.com/watch?v=b8HemGtt4dQ

bihar badh rahat 6000 online apply 2020

बिहार बाढ़ राहत का आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले अपने मुखिया या फिर पंचायत या फिर वार्ड से मिलना होगा कि इसका ऑनलाइन प्रक्रिया करने का कोई भी यहां पर नियम नहीं है ऑनलाइन करने का यहां पर कोई भी नियम नहीं है आपको मुखिया से या फिर वार्ड से या फिर दोस्तों अब के सरपंच इन्हीं लोगों से आपको मिलना है वहां पर लिस्ट बनवाना है लिस्ट बनवाने के बाद ही आपको इतना पैसा मिलने वाला है

Bihar Badh Rahat कौन कौन जिले शामिल है ?

बिहार बाढ़ राहत में लगभग 10 जिले शामिल है 10 जिले का नाम नीचे दिया गया आप उसे पढ़ सकते हैं

सीतामढ़ी
शिवहर
सुपौल
किशनगंज
दरभंगा
मुजफ्फरपुर
गोपालगंज
खगड़िया
पूर्वी चंपारण
पश्चिमी चंपारण

Bihar Badh Rahat किन-किन क्षेत्रों में कितना पैसा मिलेगा ?

नुकसान होने पर इन मदों में मिलेगी सहायता
6000 नकदी हरेक परिवार को है
4800 कपड़ा मद में
2000 बर्तन के लिए
6800 प्रति हेक्टेयर फसल
30 हजार प्रति गाय, भैंस में
3 हजार प्रति बकरी, भेड़, सुअर
25 हजार प्रति घोड़ा पर
50 रुयये प्रति मुर्गा, अधिकतम 5
हजार
95400 कच्चा-पक्का मकान
5200 पक्का मकान
3200 कच्चा मकान
400 झोपड़ी के लिए
2100 जानवर के शेड नुकसान

Bihar Badh से प्रभावित क्षेत्रों के द्वारा सरकार से अनुरोध

अगर आप भी Bihar Badh से प्रभावित क्षेत्र से हैं तो आपको बहुत ज्यादा जो है यहां पर नुकसान हुआ होगा और साथ ही साथ और सर जो है आपको नुकसान होता है, तो मैं सरकार से ही कहना चाहूंगा कि यह पैसे ना देकर अगर आप बांध को बढ़िया से बनवा देता तो आज जो है एक कंडीशन बिल्कुल भी हमारे सामने और आपके सामने नहीं आता और इस पैसे की जरूरत भी नहीं पड़ती है सरकार है उनका क्या नीति है वह क्या करना चाहता है उसके ऊपर डिपेंड करता है जो भी अपडेट आया उसके बारे में बताएंगे और अपने परिवार का ख्याल रखें

Shubham Kumar
Shubham Kumar
Shubham Kumar is a passionate blogger with a deep interest in providing the latest information on jobs, education, scholarships, and government schemes. His mission is to empower his readers with the knowledge they need to achieve their goals and lead fulfilling lives.

Comments are closed.