12वीं के बाद डॉक्टर बनने के लिए क्या करें?, जाने पूरी जानकारी

What to do after 12th to become a doctor?- As per our reader’s demand and comments, we are publishing this article. If you want to know about What to do after 12th to become a doctor?, continue reading and learn more.

What to do after 12th to become a doctor?

क्या आप एक छात्र हैं जिसने अभी-अभी अपनी 12वीं कक्षा पूरी की है और डॉक्टर बनने का जुनून रखता है? डॉक्टर बनना एक बेहद सम्मानित और पुरस्कृत पेशा है जिसमें बहुत मेहनत और समर्पण की आवश्यकता होती है। इस लेख में, हम आपको 12वीं कक्षा पूरी करने के बाद डॉक्टर बनने के लिए आवश्यक कदमों के बारे में बताएंगे।

परिचय

डॉक्टर बनना एक लंबी और चुनौतीपूर्ण यात्रा है, लेकिन यह अविश्वसनीय रूप से फायदेमंद हो सकती है। डॉक्टर रोगियों को चिकित्सा देखभाल प्रदान करने, बीमारियों का निदान करने और जीवन बचाने में समाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यदि आप डॉक्टर बनने का शौक रखते हैं, तो यह आवश्यक है कि आप अपने करियर की योजना जल्दी से शुरू कर दें।

What to do after 12th to become a doctor?

ध्यान रखें :- ऐसी ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में समय-समय पर अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे टेलीग्राम ग्रुप से अवश्य जॉइन हो जाए।

What to do after 12th to become a doctor? – Overview

TopicInformation
Eligibility criteria for becoming a doctorCompleted 12th grade with science, minimum 50% aggregate marks, cleared NEET exam
Choosing the right stream in 12th gradeScience stream with physics, chemistry, and biology
NEET exam preparationStrong foundation in physics, chemistry, and biology
Admission processSubmit NEET scorecard and necessary documents to college of choice
Pursuing MBBSFive and a half year undergraduate course with one-year internship
Specializing in a specific fieldClear NEET PG exam for admission to postgraduate program
InternshipMandatory part of MBBS course, gain practical experience
Applying for postgraduate programClear NEET PG exam
Career prospectsWork in government or private hospitals, medical research, academia
Essential skillsGood communication, compassion, problem-solving, attention to detail, ability to work under pressure, dedication and hard work
Challenges faced by doctors in IndiaOvercrowded hospitals, inadequate resources, lack of pay and job security, long working hours and high stress levels, lack of respect and appreciation, rising trend of violence against doctors
ConclusionPursuing a career in medicine requires early planning and hard work, but is a noble service to society.

डॉक्टर बनने के लिए पात्रता मानदंड

एक डॉक्टर बनने के लिए, आपको अपनी 12 वीं कक्षा को विज्ञान के साथ अपनी मुख्य धारा के रूप में पूरा करना होगा। आपके 12वीं बोर्ड परीक्षा में कम से कम 50% कुल अंक होने चाहिए। इसके अतिरिक्त, आपको भारत में किसी भी मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) पास करनी होगी।

12वीं में सही स्ट्रीम का चुनाव करें

अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो 12वीं कक्षा में सही स्ट्रीम का चुनाव करना महत्वपूर्ण है। आपने विज्ञान को अपनी मुख्य धारा के रूप में लिया होगा, जिसमें भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान शामिल हैं। जीवविज्ञान सबसे महत्वपूर्ण विषय है क्योंकि यह सभी चिकित्सा अध्ययनों का आधार है।

नीट परीक्षा की तैयारी करना होगा

NEET परीक्षा भारत के किसी भी मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने का प्रवेश द्वार है। परीक्षा में तीन खंड होते हैं: भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान। नीट परीक्षा की तैयारी के लिए आपको तीनों विषयों में मजबूत नींव रखने की जरूरत है। परीक्षा की तैयारी के लिए आप कोचिंग कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं या ऑनलाइन कक्षाएं ले सकते हैं।

जाने प्रवेश प्रक्रिया

नीट परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद आप भारत के किसी भी मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं। जिस कॉलेज में आप शामिल होना चाहते हैं, आपको अपना एनईईटी स्कोरकार्ड और अन्य आवश्यक दस्तावेज जमा करने होंगे। प्रवेश प्रक्रिया कॉलेज से कॉलेज में भिन्न होती है, इसलिए अधिक जानकारी के लिए कॉलेज की वेबसाइट की जांच करना आवश्यक है।

एमबीबीएस करना होगा

एमबीबीएस का मतलब बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी है। यह साढ़े पांच साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स है जिसमें एक साल की इंटर्नशिप शामिल है। इस कोर्स में साढ़े चार साल का क्लासरूम और प्रैक्टिकल ट्रेनिंग होती है, जिसके बाद एक साल की अनिवार्य इंटर्नशिप होती है।

एक विशिष्ट क्षेत्र में विशेषज्ञता

अपना एमबीबीएस पूरा करने के बाद, आप चिकित्सा के एक विशिष्ट क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त कर सकते हैं। कार्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी, पीडियाट्रिक्स आदि जैसी विभिन्न विशेषज्ञताएं उपलब्ध हैं। अपने चुने हुए क्षेत्र में स्नातकोत्तर कार्यक्रम में प्रवेश पाने के लिए आपको NEET PG परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी।

Read More

इंटर्नशिप

इंटर्नशिप आपकी चिकित्सा शिक्षा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। अपनी इंटर्नशिप के दौरान, आप अस्पताल की सेटिंग में व्यावहारिक अनुभव प्राप्त करेंगे और अनुभवी डॉक्टरों के साथ काम करेंगे। इंटर्नशिप अनिवार्य है और एमबीबीएस पाठ्यक्रम में शामिल है। आप सीखेंगे कि रोगियों के साथ कैसे बातचीत करें, बीमारियों का निदान करें और उपचार प्रदान करें।

स्नातकोत्तर कार्यक्रम के लिए आवेदन करना होगा

अपना एमबीबीएस पूरा करने के बाद, आप अपनी चुनी हुई विशेषज्ञता में स्नातकोत्तर कार्यक्रम के लिए आवेदन कर सकते हैं। स्नातकोत्तर कार्यक्रम में प्रवेश पाने के लिए, आपको NEET PG परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है, और प्रवेश के लिए आपकी पात्रता निर्धारित करने के लिए स्कोर का उपयोग किया जाता है।

डॉक्टरों के लिए करियर की संभावनाएं

डॉक्टरों के पास करियर की व्यापक संभावनाएं हैं। आप सरकारी अस्पतालों, निजी अस्पतालों में काम कर सकते हैं या अपनी निजी प्रैक्टिस शुरू कर सकते हैं। आप मेडिकल रिसर्चर के तौर पर भी काम कर सकते हैं या एकेडेमिया में करियर बना सकते हैं।

एक सफल डॉक्टर बनने के लिए आवश्यक आवश्यक कौशल

एक सफल डॉक्टर बनने के लिए, आपके पास निम्नलिखित आवश्यक कौशल होने चाहिए:

  • अच्छा संचार कौशल
  • मरीजों के प्रति दया और सहानुभूति
  • मजबूत समस्या सुलझाने के कौशल
  • विस्तार पर ध्यान
  • दबाव में कार्य करने की योग्यता
  • समर्पण और कड़ी मेहनत

भारत में डॉक्टरों के सामने चुनौतियां

भारत में डॉक्टरों को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है, जैसे:

  • भीड़भाड़ वाले अस्पताल और अपर्याप्त संसाधन
  • पर्याप्त वेतन और नौकरी की सुरक्षा का अभाव
  • लंबे समय तक काम करने के घंटे और उच्च तनाव का स्तर
  • समाज से सम्मान और प्रशंसा की कमी
  • डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा की बढ़ती प्रवृत्ति

Important Link

Join TelegramClick Here
Official WebsiteClick Here

निष्कर्ष

डॉक्टर बनना एक चुनौतीपूर्ण लेकिन पुरस्कृत यात्रा है। यदि आप चिकित्सा में अपना करियर बनाने के बारे में भावुक हैं, तो यह आवश्यक है कि आप जल्दी योजना बनाना शुरू कर दें और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करें। याद रखें, डॉक्टर होना सिर्फ एक पेशा नहीं बल्कि समाज की एक नेक सेवा है।

ध्यान रखें :- ऐसी ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में समय-समय पर अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे टेलीग्राम ग्रुप से अवश्य जॉइन हो जाए।

FAQS

What are the eligibility criteria for becoming a doctor in India?

To become a doctor in India, you need to have completed your 12th grade with science as your main stream. You need to have a minimum of 50% aggregate marks in your 12th board exams and must have cleared the NEET exam.

What is the NEET exam?

The NEET exam is a national level entrance exam conducted for students who want to pursue a career in medicine. It is the gateway to getting admission to any medical college in India.

What is the duration of the MBBS course?

The MBBS course is five and a half years long, including a one-year internship.

What are the challenges faced by doctors in India?

Doctors in India face several challenges, such as overcrowded hospitals, inadequate resources, long working hours, and rising violence against doctors.

References

Also Read

Shubham Kumar
Shubham Kumar
Shubham Kumar is a passionate blogger with a deep interest in providing the latest information on jobs, education, scholarships, and government schemes. His mission is to empower his readers with the knowledge they need to achieve their goals and lead fulfilling lives.

Leave a Comment